झारखण्ड: पुलिस हैं नहीं तो लोगों की सुरक्षा का वादा कैसे कर रहे हैं रघुबर जी!

Reported by lokpal report

09 Feb 2019

41

 


रांची: झारखण्ड एक तरफ पुलिस कर्मियों की कमी से जूझ रहा है दूसरी तरफ प्रदेश मुख्यालय के नए आदेश ने एक और अफरा तफरी मचा दी है. बीती पांच फरवरी को झारखंड पुलिस मुख्यालय ने मुशहरी कमेटी की अनुशंसा पर राज्य के पुलिसकर्मियों से प्रत्येक दिन 8 घंटे और सप्ताह में 6 दिन ही काम लेने का आदेश जारी किया है. लेकिन सवाल यह है कि इसका पालन होगा कैसे?  वर्तमान में झारखंड में पुलिसकर्मियों की संख्या 70 हजार के करीब है. अगर पुलिसकर्मियों से 8 घंटे और सप्ताह में एक दिन छुट्टी के आदेश का पालन होता है तो, तीन गुना और पुलिसकर्मियों की जरूरत होगी.

दरअसल पुलिस मुख्यालय से जारी आदेश में कहा गया था कि जिले के थाना/कार्यालय तथा पुलिस विभाग के अन्य कार्यालयों में कार्य की अधिकता है. इस कारण पुलिस कर्मियों से 8 घंटे से अधिक समय तक कार्य लिया जाता है. लगातार 8 घंटे से अधिक समय तक कार्य किये जाने से स्वाभाविक है कि पुलिस कर्मी की कार्य क्षमता घटेगी. पुलिसकर्मी शारीरिक एवं मानसिक रूप से तनावग्रस्त रहेंगे. ऐसी स्थिति में विधि व्यवस्था संधारण, अपराध नियंत्रण एवं जन सुरक्षा जैसे अति महत्वपूर्ण कार्यों का संपादन तनावग्रस्त पुलिसकर्मियों के द्वारा ठीक से नहीं किया जा सकता. ऐसे में पुलिस कर्मियों से दिन में 8 घंटे की ड्यूटी और सप्ताह में 1 दिन की छुट्टी दिया जायेगा.

आंकड़े के मुताबिक झारखंड में 956 लोगों की सुरक्षा में एक पुलिस है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि झारखंड में पुलिसकर्मियों की कितनी कमी है. ऐसे में पुलिस मुख्यालय के द्वारा पुलिस कर्मियों को 8 घंटे की ड्यूटी और सप्ताह में एक दिन की छुट्टी दिये जाने का आदेश का पालन होना असंभव दिख रहा है.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# jharkhand police # raghubar das # public lokpal # plnews