रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में राम रहीम को उम्रकैद, लगा 50,000 का जुर्माना भी

Reported by lokpal report

17 Jan 2019

141

 


पंचकूला: सीबीआई की विशेष अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को पत्रकार राम चंदर छत्रपति की हत्या के जुर्म में आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. स्वयंभू धर्मगुरु जो वर्तमान में उनकी दो महिला शिष्याओं के साथ बलात्कार के मामले में हरियाणा की सुनारिया जेल में 20 साल की सजा काट रहे हैं, वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश हुए. मामले के अन्य तीन आरोपियों को भी आजीवन कारावास की सजा मिली है. अदालत ने उनमें से प्रत्येक पर 50,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया है.

डेरा के तीन अनुयायियों के साथ डेरा प्रमुख अनुयायी कुलदीप सिंह, निर्मल सिंह और कृष्ण लाल को सिरसा के मुंशी की मौत के लिए विशेष अदालत ने 11 जनवरी को दोषी ठहराया था. सीबीआई के अनुसार डेरा प्रमुख ने निर्मल और कुलदीप सिंह को वॉकी-टॉकी और एक बंदूक दी गई थी, जो कृष्ण लाल की थी.

यह माना जाता है कि छत्रपति की हत्या उनके समाचार पत्र में 'पूरा सच' में उस गुमनाम पत्र के प्रकाशित होने के बाद की गई जिसे डेरे की एक शिष्या ने लिखा था और बताया था कि कैसे गुरमीत राम रहीम अपनी शिष्याओं का यौन शोषण करता है. जिसके बाद पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय ने स्वयंभू धर्मगुरु और डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ यौन शोषण के आरोपों की जांच शुरू की थी.

24 अक्टूबर, 2002 को गोली लगने के बाद, राम चंदर छत्रपति को नई दिल्ली के अपोलो अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया, जहां उन्होंने 21 नवंबर, 2002 को दम तोड़ दिया. उनके परिवार ने 2003 में उनकी मौत की सीबीआई जांच की मांग की. सीबीआई ने 2007 के जुलाई में इस संबंध में आरोप पत्र दायर किया.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# ram rahim # gurmeet ram rahim # ram chander chatrapati # public lokpal # plnews