कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक में योगी का पूरा ध्यान गोकशी पर, इंस्पेक्टर की मौत पर साधा मौन

Reported by lokpal report

05 Dec 2018

33

 

बुलंदशहर: मंगलवार देर शाम प्रदेश की कानून व्यवस्था पर हुई समीक्षा बैठक में सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ का पूरा फोकस गोकशी पर रहा. बुलंदशहर हिंसा के दौरान भीड़ की भेंट चढ़े पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर योगी ने कोई टिप्पणी नहीं दी. सीएम ने इस घटना पर मुख्य सचिव, डीजीपी, प्रमुख सचिव गृह, अपर पुलिस महानिदेशक इंटेलिजेंस के साथ बैठक की. बैठक के बाद एक प्रेस रिलीज जारी की गई, जिसमें इंस्पेक्टर का कहीं जिक्र नहीं था. न ही इसमें हिंसा और पुलिस सुरक्षा को लेकर किसी तरह की कोई बात कही गई है.

सीएम योगी ने बैठक में घटना की समीक्षा कर निर्देश दिए, 'इसकी गंभीरता से जांच की जाए और गोकशी में शामिल सभी लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. यह घटना एक बड़ा साजिश का हिस्सा है, इसलिए गोकशी के मामले में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से शामिल सभी लोगों को समय पर गिरफ्तार किया जाए.'

इसके अलावा योगी ने हिंसा में मरने वाले युवक सुमित के परिवार वालों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की. यह भी निर्देश दिया गया कि अभियान चलाकर माहौल खराब करने वाले तत्वों को बेनकाब करके उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए.

jtr8erpo

गौरतलब है कि सोमवार को बुलंदशहर के एक गांव में खेतों में कथित रूप से गाय के अवशेष मिलने के बाद हिंसा भड़क गई थी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाने की कोशिश की गई. लेकिन भीड़ नहीं मानी और ज्यादा उग्र हो गई. भीड़ ने पुलिस पर ही हमला कर दिया. पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की भीड़ के इस हमले में मौत हो गई. इसके अलावा एक सुमित नाम के युवक की भी इसमें मौत हो गई. पुलिस ने 27 लोगों को नामजद किया और 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. इसके साथ ही इस मामले में करीब चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. 
 

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# bulandshahar riots # yogi adityanath # subodh kumar singh # public lokpal # plnews