भोपाल: 32 दिनों के भीतर नाबालिग के बलात्कारी को मिली मौत की सजा

Reported by lokpal report

11 Jul 2019

70

 


भोपाल: भोपाल की विशेष अदालत ने जून में 35 वर्ष के अधेड़ द्वारा एक नाबालिग से बलात्कार और हत्या करने के आरोप में सजा सुनाई। मुकदमे की सुनवाई शुरू होने के 32 दिन बाद अदालत ने अधेड़ उम्र के इस बलात्कारी को मौत की सजा सुनाई। निर्णय, विशेष न्यायाधीश द्वारा पॉस्को (यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण के मामले) के तहत गुरुवार 11 जुलाई को सुनाया गया।

आरोपी विष्णु बामोरा पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 (हत्या) और धारा 376-एबी (12 साल से कम उम्र की बालिका के साथ बलात्कार की सजा) के तहत मामला दर्ज किया गया था। इस घटना के तीन दिन बाद 12 जून को बामोरा के खिलाफ 100-पेज की चार्जशीट दायर की गई थी।

राज्य अभियोजन सेल के प्रवक्ता सुधा विजय सिह भदौरिया ने कहा कि बामोरा को भारतीय दंड संहिता की धारा 366 (नाबालिग का अपहरण करना) और सात साल की जेल की (आईपीसी) की धारा 366 (जबरन और अवैध संभोग के तहत अपहरण) के तहत तीन साल की कैद की सजा मिली।

भदौरिया ने पीटीआई को बताया कि अदालत ने सभी सजाएं एक साथ चलाने का आदेश दिया। निर्णय डीएनए परीक्षण और 30 गवाहों के परीक्षण के परिणामों पर आधारित था।

कथित तौर पर, आठ वर्षीय लड़की खरीदारी करने के लिए 8 जून को कमला नगर के अपने निवास स्थान से गई थी। अगले दिन सुबह नाबालिग का शव एक नाले के पास मिला। पुलिस ने 10 जून को मोटक्का गांव, खंडवा से बमोरा को गिरफ्तार किया था।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# posco # public lokpal # plnews