बुलंशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध के बेटे का सवाल, 'आज मेरे पिता तो कल किसके पिता की जान जाएगी'?

Reported by lokpal report

04 Dec 2018

36

 

 

बुलंदशहर: बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के बेटे अभिषेक सिंह ने सवाल किया है कि हिन्दू-मुस्लिम विवाद में आज मेरे पापा की जान गई है कल किसके पिता की जान जाएगी? अभिषेक ने कहा कि 'मेरे पिता चाहते थे कि मैं अच्छा इंसान बनूं, जो कभी भी धर्म के नाम पर समाज में हिंसा को बढ़ावा न दे. मैं सवाल पूछना चाहता हूं कि इस हिंदू-मुस्लिम विवाद में आज मेरे पापा की जान गई, कल किसके पिता की जान जाएगी?'।

मृतक इंस्पेक्टर के बेटे अभिषेक ने कहा कि उनके पापा के लिए हिन्दू मुस्लिम सब बराबर थे. वे किसी में भेदभाव नहीं करते थे। फिर भी लोगों ने उनकी जान ले ली.

वहीं इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के चाचा राम अवतार सिंह का आरोप है कि चूंकि उनका भतीजा अखलाक केस की जांच में भी शामिल था, इसलिए बदले की भावना से उनको मारा गया होगा.

वहीं शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह का पार्थिव शरीर एटा पहुँच गया है. पुलिस लाइन में सलामी देने के बाद उनके पैतृक गांव तरगवा में उनका अंतिम संस्कार होगा.

बताते चलें कि सोमवार को गोकशी को लेकर बुलंदशहर के स्याना में भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गोली लगने से मौत हो गई थी. इस मामले में 28 लोगों को नामजद किया गया है जबकि सोमवार की घटना में 60 लोगों को अज्ञात के रूप में सूचीबद्ध किया गया है. दर्ज रिपोर्ट में बजरंग दल के एक वरिष्ठ नेता योगेश राज को भी नामजद किया गया है, जिसने इससे पहले गौ हत्या का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी.

पहली एफआईआर स्याना के नयाबांस गांव निवासी योगेश राज ने ही गोकशी की लिखायी थी, उसने 7 लोगों को नामजद करते हुए लिखाया था कि वह अपने साथियों के साथ महाब के जंगल में घूम रहा था तभी उसने देखा कि सुदैफ चौधरी, इलियास, शराफत, अनस, साजिद, परवेज व सरफुद्दीन गोवंशों का कटान कर रहे हैं, उन लोगों द्वारा शोर मचाए जाने पर आरोपी मौके से भाग गये.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# subodh kumar singh # bulandshahar riots # public lokpal # plnews