कोयला घोटाले में गुप्ता व अन्य दो को तीन-तीन वर्षों का कारावास 

Reported by lokpal report

05 Dec 2018

32

 


नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने बुधवार को कोयला ब्लॉक आवंटन घोटाले मामले में पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को 3 साल की कारावास की सजा सुनाई. यह घोटाला केंद्र की पिछले यूपीए सरकार के दौरान हुआ था.

दो अन्य नौकरशाहों, केएस क्रोफा और केसी सामरिया को भी 3 साल का कारावास दिया गया है. 

विशेष न्यायाधीश भारत प्रसार ने विकास मेटल्स एंड पावर लिमिटेड के प्रबंध निदेशक विकास पटनी और इसके अधिकृत हस्ताक्षरी आनंद मलिक को 4 साल की जेल की सजा सुनाई. कंपनी पर 1 लाख रुपये का अर्थदंड भी लगाया गया है.

हालाँकि सीबीआई पांच दोषी व्यक्तियों के लिए अधिकतम 7 साल का कारावास व निजी फर्म पर भारी जुरमाना लगाने की मांग कर रही थी. 

अदालत ने 30 नवंबर को कोयला क्रोफा मंत्रालय के पूर्व संयुक्त सचिव गुप्ता और मंत्रालय के तत्कालीन निदेशक (सीए -1) को दोषी पाया था.

अदालत ने इसके साथ ही फर्म के मालिक पाटनी को भी दोषी पाया था. मामला पश्चिम बंगाल में वीएमपीएल में मोइरा और मधुजोर (उत्तर और दक्षिण) कोयला ब्लॉक के आवंटन में कथित अनियमितताओं से संबंधित है. सितंबर 2012 में, सीबीआई ने इस मामले में शिकायत दर्ज कराई थी.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# coal scam # hc gupta # public lokpal # plnews