तीसरी तिमाही में गिरी भारत की जीडीपी, फिर भी चीन से आगे है भारत

Reported by lokpal report

30 Nov 2018

33

 

 
नई दिल्ली : शुक्रवार को जारी सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में 7.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि यही पिछले तिमाही (अप्रैल-जून) में 8.2 प्रतिशत थी. हालांकि, अब भी भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में चीन से आगे बना हुआ है.

पिछले वित्त वर्ष में, स्थिर कीमतों (2011-12) के चलते सकल घरेलू उत्पाद जुलाई-सितंबर तिमाही में 6.3 प्रतिशत बढ़ गया था. केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के अनुसार 2018-19 की दूसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद का आकार 33.98 लाख करोड़ रुपये है, जो एक साल पहले 31.72 लाख करोड़ रुपये था. यह 7.1 प्रतिशत की वृद्धि दर दर्शाता है.

जनवरी-मार्च तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि 7.7 प्रतिशत थी, जबकि अक्टूबर-दिसंबर के बीच यह 7 प्रतिशत थी.

नवीनतम आंकड़ों पर प्रतिक्रिया देते हुए वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि जुलाई-सितंबर तिमाही में 7.1 प्रतिशत की वृद्धि "उचित" है क्योंकि अर्थव्यवस्था को तीन महीने की अवधि के दौरान तेल की ऊँची कीमतों और कमजोर रुपये की चुनौती का सामना करना पड़ा. आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि सितंबर तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि "निराशाजनक लगती है". उन्होंने कहा, अप्रैल-सितंबर की अवधि में 7.6 प्रतिशत की वृद्धि "काफी मजबूत और स्वस्थ" है जो यह दर्शाती है कि भारत में दुनिया की नज़र से विकास दर सबसे ऊँची है.


गौरतलब है कि इस साल जुलाई-सितंबर की अवधि में चीनी अर्थव्यवस्था 6.5 प्रतिशत की दर से बढ़ी थी. नवीनतम आंकड़ों पर विचार करते हुए, सीएसओ ने कहा कि तिमाही में खनन और खनन उत्पादन में 2.4 प्रतिशत की कमी आई है जो पिछले साल की समान अवधि में 6.9 प्रतिशत थी.

हालांकि, प्रचलित तिमाही में विनिर्माण गतिविधियां 7.4 प्रतिशत की दर से बढ़ीं, जो पिछले साल की तिमाही में 7.1 फीसदी थी. इसी प्रकार, निर्माण क्षेत्र में 3.1 प्रतिशत की तुलना में 7.8 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करके सुधार हुआ है. कृषि क्षेत्र भी इस तिमाही में 3.8 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई है जो पिछले साल  2.6 प्रतिशत थी. 

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# gdp # lowest gdp rate # india economy # public lokpal # plnews