ZEE के बुरे दिन की शुरुआत ! वित्तीय संकटों से गुजर रहा है ZEE कॉर्प 

Reported by lokpal report

12 Mar 2019

272

 


नई दिल्ली : इन दिनों वित्तीय संकटों से गुजर रहे ZEE कॉर्प ने आज अपने 15 प्रतिशत कर्मचारियों को हटाने का फैसला कर लिया है। इससे लगभग 300 कर्मचारियों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ेगा। वित्तीय संकटों से जूझ रहे ZEEके चीफ सुभाष चंद्रा ने इसीलिए अपने छोटे भाई जवाहर गोयल को ज़ी कॉर्प का चीफ एडिटर बनाया ताकि सख्त फैसले लिए जा सके।

खबर है कि डिशटीवी जो ZEE का ही है, बिक चुका है। जब से ZEE ने वीडियोकॉन d2h को ख़रीदा था तब से इसकी हालत पतली हो गई थी। DISHTV के बिकते ही d2h बिज़नेस में भी ज़ी का सूर्य अस्त होता हुए दिख रहा है।

ख़ास सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि अभी और भी कर्मचारियों को निकालने की बात चल रही है।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही 4 मार्च को एसेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्र गोयल के छोटे भाई जवाहर गोयल को ज़ी मीडिया नेटवर्क की मूल कंपनी एस्सेल ग्रुप द्वारा ज़ी मीडिया नेटवर्क के मुख्य संपादक के रूप में नियुक्त किया गया था।

एस्सेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्र गोयल के कार्यालय से उस समय के शीर्ष अधिकारियों को भेजे गए आधिकारिक ईमेल के अनुसार, जवाहर को "नेटवर्क के संपादकीय मामलों की समग्र जिम्मेदारी सौंपी गई है"।

हालाँकि, मंगलवार, 12 मार्च को नई दिल्ली में आयोजित एक बैठक में यह निर्णय लिया गया कि ZEE समूह ने अपने कर्मचारियों की संख्या लगभग 15 प्रतिशत हिस्सा घटा दिया जाए। अपनी नौकरी गंवाने वालों में ZEE कॉर्प के एचआर हेड, सुशील जोशी, गौरव भटनागर, आईटी हेड और मार्केटिंग हेड महराज दूबे शामिल हैं।

इससे एक दिन पहले, सोमवार को, 34 लोगों को उनके मुंबई ब्यूरो में ZEE के स्वामित्व वाली डीएनए की मार्केटिंग टीम से हटा दिया गया था।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# zee corp # subhash chandra # essel group # public lokpal # plnews