इन रेडियो चैनलों पर अब नहीं सुनाई देगी पीएम मोदी के मन की बात क्योंकि ..

Reported by lokpal report

05 Jan 2019

144

 

नई दिल्ली: भारत के राष्ट्रीय राज्य प्रसारक ने लागत में कटौती और युक्तिकरण उपाय के रूप में तत्काल प्रभाव से ऑल इंडिया रेडियो (AIR) के एकलौते राष्ट्रीय चैनल को बंद करने का निर्णय लिया है.

प्रसार भारती द्वारा गुरुवार को घोषित किए गए इस अचानक कदम में, पांच क्षेत्रीय प्रशिक्षण अकादमियों को भी तत्काल प्रभाव से बंद करने का आदेश दिया गया है. प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर वेम्पती ने कहा कि स्थानीय प्रसारण का युक्तिकरण एक सतत प्रक्रिया है.

उन्होंने कहा कि “हम उन क्षेत्रों की समीक्षा कर रहे हैं जो प्रभावी नहीं हैं और जहां प्रौद्योगिकी प्रचलन से बाहर हो रही है. साथ ही अब नए क्षेत्रों में निवेश करना है जिनके प्रासंगिक होने की उम्मीद है और जिसे आधुनिक तकनीकों से लैस किया जा सकता है. यह एक प्रचलित अभ्यास है जो आगे भी जारी रहेगा”.

उन्होंने कहा कि “जहां तक ​​एक नेशनल चैनल की बात है तो हम इस पर 24 × 7 समाचार प्रसारण पर काम कर रहे हैं.

राष्ट्रीय चैनल
बहुभाषी चैनल, जो रात 6 बजे से सुबह 6 बजे तक संचालित होता है, भारतीय समाज के सभी क्षेत्रों में खानपान, राष्ट्रीय चर्चा के कार्यक्रमों, पैनल चर्चा और कार्यक्रमों का प्रसारण करता है.

यह भारत सरकार की प्रसारण नीति के अनुसार 1987 में शुरू किया गया था.

मामला-दर-मामला के आधार पर, AIR विशेष कार्यक्रमों के लिए क्षेत्रीय चैनलों को जोड़कर एक राष्ट्रीय नेटवर्क रखता है.

सूत्रों ने आकाशवाणी के लिए एक राष्ट्रीय चैनल की आवश्यकता पर प्रकाश डाला, जिसमें कहा गया है कि हर बार एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम या कार्यक्रम के प्रसारण के लिए एक राष्ट्रीय नेटवर्क को "बनाना" पड़ता है. कई क्षेत्रीय चैनलों को अपने स्वयं के कार्यक्रमों को समाप्त करना पड़ता है, और कई बार, विज्ञापनों, के न मिलने पर राजस्व की हानि उठानी पड़ती है.

प्रसार भारती ने राष्ट्रीय चैनल के अलावा, अहमदाबाद, हैदराबाद, लखनऊ, शिलांग और तिरुवनंतपुरम में ब्रॉडकास्टिंग और मल्टीमीडिया (आरएबीएम) की क्षेत्रीय अकादमियों को तत्काल प्रभाव से बंद करने का आदेश दिया है.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# prasar bharati # air # all india radio # public lokpal # plnews