कैरी बैग के लिए बाटा इंडिया लिमिटेड ने मांगे 3 रुपये, तो भरना पड़ गया 9,000 रुपये का जुर्माना

Reported by lokpal report

14 Apr 2019

304

 


चंडीगढ़: सेवाओं में कोताही बरतने के लिए बाटा इंडिया लिमिटेड पर चंडीगढ़ के एक उपभोक्ता फोरम ने एक उपभोक्ता को 9,000 रुपये चुकाने को कहा है। ग्राहक द्वारा दर्ज की गई एक शिकायत, जिसमे ग्राहक को पेपर बैग के लिए 3 रुपये अदा करने को कहा गया था, में बाटा को फटकार लगते हुए उसे ग्राहक को 4,000 रुपये का जुर्माना अदा करने को कहा।

चंडीगढ़ निवासी दिनेश प्रसाद रतूड़ी ने अपनी शिकायत में उपभोक्ता फोरम को बताया कि उन्होंने 5 फरवरी को सेक्टर 22 डी स्थित बाटा स्टोर से एक जोड़ी जूते खरीदे। स्टोर ने उनसे 402 रुपये लिए, जिसमें पेपर बैग के लिए शुल्क भी शामिल था। रतूड़ी ने फोरम से कहा कि बैग के लिए पैसे वसूल कर बाटा बैग पर अपने ब्रांड का प्रचार कर रहा था जो कि उचित नहीं है।

शिकायतकर्ता ने 3 रुपये की वापसी और सेवाओं में त्रुटि के लिए मुआवजे की मांग की। इस पर पलटवार करते हुए, बाटा इंडिया ने सेवाओं में कमी के आरोपों का खंडन किया। फोरम ने कहा कि एक ग्राहक को एक पेपर बैग के लिए भुगतान करने के लिए मजबूर करना सेवा में स्पष्ट रूप से एक बड़ी त्रुटि है क्योंकि यह ग्राहक को मुफ्त बैग प्रदान करने के लिए स्टोर का कर्तव्य था जिन्होंने उनका उत्पाद खरीदा था।

उपभोक्ता फोरम ने बाटा इंडिया को अपने ग्राहकों को मुफ्त पेपर बैग उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है। यह भी देखा गया कि अगर कंपनियां वास्तव में पर्यावरण के बारे में चिंतित थीं, तो उन्हें अपने ग्राहकों को पर्यावरण के अनुकूल मुफ्त बैग प्रदान करना चाहिए।

फोरम ने अपने फैसले में बाटा इंडिया लिमिटेड को बैग की लागत (3 रुपये) और मुकदमेबाजी में खर्च हुए 1000 रुपयों को वापस करने का निर्देश दिया है।

सेवाओं में कमी के कारण हुई मानसिक पीड़ा के लिए बाटा को ग्राहक को मुआवजे के रूप में 3000 रुपये देने के अलावा, फोरम ने बाटा इंडिया को राज्य उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग के कानूनी सहायता खाते में 5,000 रुपये जमा करने का भी निर्देश दिया है।

चंडीगढ़ उपभोक्ता फोरम का फैसला स्टोर के लिए एक आंख खोलने वाला है जो ग्राहकों को कैरी बैग के लिए पांच रुपये तक का भुगतान करने के लिए मजबूर करता है।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# bata india # consumer forum # public lokpal # plnews