कर्नाटक में चढ़ा सियासत का पारा, दो निर्दलीय विधायकों ने जद (एस) से वापस लिया समर्थन

Reported by lokpal report

15 Jan 2019

183

 

 

बेंगलुरु: बीजेपी द्वारा सत्ता पक्ष के असंतुष्ट विधायकों को अपनी तरफ करने के प्रयासों की ख़बरों के बीच दो निर्दलीय विधायकों- एच नागेश और आर शंकर ने मंगलवार को कर्नाटक में जेडी (एस)-कांग्रेस सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया.

समाचार एजेंसी एएनआई ने ट्वीट किया, "2 निर्दलीय विधायक, एच नागेश, और आर शंकर ने कर्नाटक सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है".

आर शंकर ने एजेंसी के हवाले से कहा है कि "आज मकर संक्रांति है, इस दिन हम सरकार में बदलाव चाहते हैं. सरकार को (कर्नाटक सरकार को) कार्य कुशल होना चाहिए, इसलिए मैं आज अपना समर्थन वापस ले रहा हूं".

उन्होंने यह भी कहा कि सीएम एचडी कुमारस्वामी कई मोर्चों पर विफल रहे, यही वजह है कि उन्होंने समर्थन वापस लेने का फैसला किया है.

अपने फैसले पर प्रकाश डालते हुए, एच नागेश ने कहा कि उन्होंने समर्थन वापस लेने का फैसला किया क्योंकि "गठबंधन सहयोगियों के बीच आपसी समझ नहीं थी".

उन्होंने कहा, "गठबंधन सरकार को मेरा समर्थन अच्छी और स्थिर सरकार प्रदान करने के लिए था, जो पूरी तरह से विफल रहा. गठबंधन के सहयोगियों के बीच आपसी समझ का अभाव है. इसलिए, मैंने भाजपा के साथ मिलकर स्थिर सरकार स्थापित करने और यह देखने का फैसला किया कि सरकार गठबंधन से बेहतर प्रदर्शन करती है".

कर्नाटक के दो निर्दलीय विधायकों ने अपना समर्थन वापस लेने पर टिप्पणी करते हुए, डिप्टी कर्नाटक के सीएम, जी. परमेश्वर ने कहा, "हम कह रहे हैं कि बीजेपी हमारे विधायकों को पैसे और सत्ता के माध्यम से लुभा रही है, लेकिन सरकार को अस्थिर करने के उनके प्रयास विफल होंगे. हमारी सरकार स्थिर है"

224 सदस्यीय कर्नाटक विधानसभा में, कांग्रेस के 80 विधायक हैं, जेडी (एस) के पास 37, बसपा के एक और दो निर्दलीय हैं, जिन्होंने एक साथ गठबंधन कर सरकार बनाई है.

दूसरी ओर, भाजपा के पास 104 विधायक हैं.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# bjp # karnataka govt # h nagesh # r shankar # h kumaraswamy # public lokpal # plnews