गुरुवार से पांच जजों की संविधान पीठ करेगी अयोध्या मामले की सुनवाई

Reported by lokpal report

08 Jan 2019

103

 


नई दिल्ली: भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली सर्वोच्च न्यायालय की पांच-न्यायाधीशों की संविधान पीठ गुरुवार को फैसला करेगी कि अयोध्या में मंदिर-मस्जिद विवाद पर क्या निर्णय लिया जाए. संविधान पीठ में चार अन्य न्यायाधीश हैं जस्टिस एसए बोबडे, न्यायमूर्ति एनवी रमना, न्यायमूर्ति यूयू ललित और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ हैं.

इस मामले पर निर्णय छह दशकों से लंबित है. 1992 में हिन्दू कार्यकर्ताओं द्वारा 16वीं सदी में बने बाबरी मस्जिद को ढहाने और केंद्र की बीजेपी सरकार द्वारा किये गए राम मंदिर निर्माण के वादे को पूरा करने के लिए हिन्दू संगठनों का दबाव बढ़ता जा रहा है. 

सत्तारूढ़ भाजपा के सदस्य, उसके कुछ सहयोगी और दक्षिणपंथी समूह चाहते हैं कि आम चुनावों की घोषणा से पहले मंदिर निर्माण शुरू करने में सक्षम एक विशेष कार्यकारी आदेश या अध्यादेश जारी किया जाए.

शुक्रवार को शीर्ष अदालत ने अयोध्या मामले को केवल 60 सेकंड की सुनवाई में टाल दिया था और कहा कि पीठ 10 जनवरी को फैसला लेगी कि इस मामले पर बहस कब से शुरू की जाए.

यह विवाद 2.7 एकड़ से अधिक भूमि पर है, जहाँ  6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद ध्वस्त होने से पहले खड़ा था.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# ayodhya dispute # ayodhya land dispute # ram mandir # babari masjid # justice ranjan gogoi # public lokpal # plnews