दिल्ली एनसीआर में घोषित हुई पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी, पांच नवंबर तक लगा प्रतिबन्ध

Reported by lokpal report

01 Nov 2019

372

 

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के एक अधिकृत पैनल ने दिल्ली में शुक्रवार को सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित कर दिया। दिल्ली के कई क्षेत्रों ने वायु गुणवत्ता सूची में 500 का आंकड़ा पार कर लिया है। पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम और नियंत्रण) प्राधिकरण (EPCA) ने दिल्ली, नोएडा, गुड़गांव, गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा में 5 नवंबर तक पूर्ण निर्माण प्रतिबंध का आदेश दिया, साथ ही सर्दियों के मौसम में पटाखे फोड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया।

एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) में 500 से ऊपर के आंकड़े को "अति गंभीर आपातकालीन" श्रेणी माना जाता है। 0-50 के बीच AQI को "अच्छा", 51-100 "संतोषजनक", 101-200 "मध्यम", 201-300 "ख़राब", 301-400 "बहुत ख़राब" और 401-500 "गंभीर" माना जाता है। दिल्ली की हवा में पिछले तीन दिनों से अंतिम श्रेणी मौजूद है।

''गंभीर' श्रेणी की इस हवा के निरंतर संपर्क में रहने से फेफड़ों में प्रदूषण की वजह से साँस संबधी बीमारियों के साथ अन्य प्रतिकूल स्वास्थ्य प्रभाव हो सकते हैं, खासकर बच्चे और बुजुर्ग सबसे ज़्यादा प्रभावित होते हैं।

ईपीसीए के चेयरपर्सन भूरे लाल ने उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली के मुख्य सचिवों को लिखे अपने पत्र में कहा, "हमें इसे सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल के रूप में लेना होगा क्योंकि वायु प्रदूषण का सभी पर, विशेष रूप से हमारे बच्चों पर प्रतिकूल स्वास्थ्य प्रभाव पड़ेगा।"

शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्कूली बच्चों को प्रदूषण मास्क वितरित किए।

अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि पड़ोसी राज्यों में पराली जलने के धुएं के कारण दिल्ली गैस चैंबर में बदल गई है। प्रदूषण इतना अधिक है कि हम खुद को इस जहरीली हवा से बचाएं। प्राइवेट और सरकारी स्कूलों में हमने आज 50 लाख मास्क वितरित करना शुरू कर दिया है। मैं सभी दिल्लीवासियों से आग्रह करता हूं कि जब भी जरूरत हो, उनका उपयोग करें।

दिल्ली में वायु गुणवत्ता दीवाली तक "बहुत खराब" श्रेणी में थी लेकिन मंगलवार को यह स्तर "गंभीर" स्थिति में पहुंच गया। विशेषज्ञों के अनुसार, पंजाब और हरियाणा में पराली जलने और दिवाली पर पटाखे फोड़ने से दिल्ली की हवा की गुणवत्ता में गिरावट आई है।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# arvind kejriwal # public health emergency # public lokpal # plnews