चुनाव निपटते ही निपट गए ओपी राजभर, योगी सरकार ने किया कैबिनेट से बाहर 

Reported by lokpal report

20 May 2019

113



लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को राज्यपाल राम नाइक को पत्र लिखकर ओम प्रकाश राजभर को राज्य सरकार से निष्कासित करने की मांग की। तेजी से बदलते घटनाक्रम में राज्यपाल नाइक ने सिफारिश स्वीकार कर ली और राजभर को बर्खास्त कर दिया। एनडीए का सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय  समाज पार्टी खुले तौर पर अपनी सरकार और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के खिलाफ बगावती सुर में रहे हैं। हाल ही संपन्न लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी 39 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था। इससे पहले, SBSP प्रमुख ने दावा किया कि सपा-BSP-RLD गठबंधन राज्य में भाजपा की तुलना में अधिक सीटें जीतेंगे। उन्होंने यह भी दावा किया कि कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी के इस पर लगातार हमलों से भाजपा चिंतित थी।

राजभर के अलावा उनके बेटे और पार्टी के अन्य सदस्यों को सरकारी पैनल से बर्खास्त कर दिया गया है। राजभर के बेटे अरविंद राजभर और राणा अजीत सिंह, सुनील अर्कवंशी, सुदामा राजभर, गंगाराम राजभर और वीरेंद्र राजभर सहित अन्य सहयोगियों को भी निलंबित कर दिया गया।

फैसले का स्वागत करते हुए, राजभर ने कहा कि वह अपने अधिकारों के लिए लड़ते रहेंगे। ओपी राजभर ने पिछले महीने अपना इस्तीफा सौंपने का दावा किया था। उन्होंने आज सुबह संवाददाताओं से कहा कि "हम इस निर्णय का स्वागत करते हैं। मुख्यमंत्री द्वारा देरी से निर्णय लिया गया ... मैंने अप्रैल में पद छोड़ दिया था लेकिन योगी ने इसे स्वीकार नहीं किया। जिस गति से उन्होंने मुझे हटाया, उसी गति के साथ पिछड़ी जातियों के लिए काम करता रहूँगा।" 

एसबीएसपी प्रमुख ने महराजगंज और बांसगांव में मिर्जापुर और सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के उम्मीदवारों को समर्थन की घोषणा की थी।

उन्होंने नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री के रूप में फिर से चुने जाने की संभावना को भी खारिज कर दिया था और कहा था कि भारत का अगला पीएम "दलित की बेटी" होगा।
 

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# op rajbhar # om prakash rajbhar # sbsp # yogi adityanath # general elections 2019 # public lokpal # plnews