महिला सशक्तिकरण पर हापुड़ में हुई इस दरिंदगी ने दिया जोरदार तमाचा

Reported by lokpal report

13 May 2019

44

 

हापुड़: भारत में नारी सशक्तिकरण पर एक जोरदार तमाचा तब पड़ा जब उत्तर प्रदेश के हापुड़ में पिता द्वारा बेंची गई एक युवा विधवा बेटी का उसके खरीददार और उसके दोस्तों ने गैंगरेप किया। एक अंग्रेजी दैनिक की रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय पुलिस ने जब पीड़िता की बात सुनने और उस पर कोई कार्रवाई करने से इंकार कर दिया तो 20 वर्षीय इस युवा विधवा ने खुद को आग के हवाले कर दिया। रिपोर्ट में कहा गया है कि पीड़िता 80 फीसदी जल चुकी है और फिलहाल वह अपनी जिंदगी और मौत से जूझ रही है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि महिला के पिता और उसकी एक रिश्तेदार उसे 10,000 रुपये में एक आदमी को बेच दिया। जिस व्यक्ति ने महिला को खरीदा उसने कई लोगों से उधार लिया था। उसने विधवा युवती को लेनदारों के घरों में घरेलू मदद के रूप में नियुक्त करके इस कर्ज को चुकाने का फैसला किया। ये लोग न केवल उससे घर का काम कराते, बल्कि उसका बलात्कार भी करते।

लगातार भारी यातनाओं से परेशान होकर, महिला ने स्थानीय पुलिस से संपर्क करने का फैसला किया। पुलिस ने उसकी शिकायत दर्ज करने के बजाय उसे भगा दिया। बेबस होकर महिला ने खुद को आग के हवाले करने का फैसला किया। रविवार को ही यह घटना सामने आई तब यूपी पुलिस हरकत में आई। रिपोर्ट के अनुसार 14 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

पीड़ित महिला राष्ट्रीय राजधानी में भर्ती है इसलिए दिल्ली महिला आयोग ने मामले का संज्ञान लिया है। डीसीडब्ल्यू प्रमुख स्वाति मालीवाल ने अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है और महिला के लिए न्याय की मांग की है।

हापुड़ से यह खबर ऐसे समय में आया है जब पूरा देश अलवर में हुए गैंगरेप से बड़े पैमाने पर आक्रोशित है। 26 अप्रैल को आरोपियों ने थानागाजी-अलवर रोड पर एक दलित दंपति की बाइक रोक कर पति को पीटा। पति को बंधक बना कर उसके सामने महिला का बलात्कार किया। एक आरोपी ने एक वीडियो भी शूट किया। "घटना 26 अप्रैल को हुई। यह सब लगभग तीन घंटे तक चला।

पीड़िता के पति ने राजस्थान पुलिस की चौंकाने वाली उदासीनता का खुलासा किया है। उन्होंने दावा किया कि वे घटना के कारण सदमे में थे इसलिए उन्होंने चुप रहने का फैसला किया। लेकिन, जब एक आरोपी ने उसे फोन किया और पैसे की मांग की और पैसा न देने के एवज में वीडियो को सोशल मीडिया वायरल करने की धमकी दी, तो उन्होंने पुलिस शिकायत दर्ज करने का फैसला किया। 

2017 के अपराध के आंकड़े भारत में महिला सुरक्षा की गंभीर स्थिति की ओर इशारा करते हैं। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) पर एक नज़र पिछले दो दशकों में महिलाओं के खिलाफ अपराध में 200 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है, बलात्कार की घटनाओं को अपराध चार्ट में शीर्ष पर सूचीबद्ध किया गया है।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# gang rape # hapur gangrape # alwar gang rape # public lokpal # plnews