110 घंटे का रेस्‍क्यू ऑपरेशन फेल, बोरवेल से बाहर आकर भी जिंदगी की जंग हार गया 2 साल का फतेहवीर

Reported by lokpal report

11 Jun 2019

28

चंडीगढ़, पंजाब के संगरूर में पिछले 110 घंटे से चल रहा रेस्‍क्यू ऑपरेशन आखिरकार कामयाब नहीं रहा. दो साल के मासूम फतेहवीर को बाहर तो निकाल लिया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका. मंगलवार सुबह करीब 5:12 बजे उसे बोरवेल से निकाला गया, तब उसकी हालत बेहद नाज़ुक थी.

न्यूज़ एजेंसी ANI की खबर के मुताबिक, जब फतेहवीर को अस्पताल पहुंचाया गया, तब उसके शरीर पर सूजन बताई जा रही थी. धड़कनें भी रुक-रुक कर चल रही थीं.

बता दें कि संगरूर में पांच दिन पहले फतेहवीर 150 फीट गहरे बोरवेल में फंस गया था. जिसके बाद प्रशासन और गांव के लोग रात-दिन उसे बाहर निकालने में लगे थे. लेकिन, उन्हें नाकामी हाथ लगी.

कपड़े से ढका था बोरवेल
बताया जा रहा है कि 7 इंच चौड़े इस बोरवेल को कपड़े से ढक दिया गया था, जिसके चलते मासूम उसे देख नहीं सका. खेलते खेलते वह इसमें गिर गया. मासूम की मां ने उसे बोरवेल में गिरते देख लिया. लेकिन जब तक वह वहां पहुंची मासूम बोरवेल में काफी नीचे जा चुका था. वहां मौजूद ग्रामीणों ने पहले तो खुद के स्तर पर ही बच्चे को निकालने की कोशिश की, लेकिन बाद में कुछ न होता देख प्रशासन को सूचित किया गया.

5 दिन से भूखा था फतेहवीर
फतेहवीर को बोरवेल से बाहर निकालने के लिए 5 दिन से प्रशासन ने ऑपरेशन चलाया था, लेकिन कामयाबी नहीं मिल रही थी. रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान उसे ऑक्सीजन मुहैया कराने में कामयाबी मिल गई थी, लेकिन उस तक खाना और पानी पहुंच नहीं पा रहा था.

5 डॉक्‍टर करेंगे फतेहवीर का पोस्टमार्टम
फतेहवीर का पोस्टमार्टम पीजीआई चंडीगढ़ में 5 डॉक्टरों के पैनल द्वारा किया जाएगा. वहीं, इस दौरान पंजाब सरकार की और से मोहाली के एसडीएम मौजूद रहेंगे. जबकि परिवार के सवालों को देखते हुए फतेहवीर के दादा भी पोस्टमार्टम के वक्त अंदर ही मौजूद रहेंगे.

पीजीआई चंडीगढ़ के पोस्टमार्टम ब्वॉय प्रदीप के मुताबिक, शव काफी क्षत-विक्षत हालत में उनके पास लाया गया है और बॉडी में से बदबू भी आ रही है, जिसे देख कर ऐसा लगता है कि बच्चे की मौत एक या दो दिन पहले ही हो चुकी थी.

पहले भी हो चुके हैं मामले
बोरवेल में बच्‍चे के गिरने का यह पहला मामला नहीं है बल्कि इससे पहले भी कई बार बच्‍चे प्रशासनिक लापरवाही के शिकार हो चुके हैं. सरकारी कर्मचारियों की ओर से खोदे गए बोरवेल को खुले छोड़ दिए जाने के कारण कई बच्‍चे इसमें फंस चुके हैं और कई जान भी गंवा चुके हैं. इसके बावजूद भी बोरवेल को खुला छोड़ दिया जाता है.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# accident # city administration # police # punjab