नवरात्रि में पांचवे दिन होती है देवी स्कंदमाता की पूजा 

Reported by lokpal report

21 Oct 2020

314

 

आज अश्विन मास की नवरात्रि की पंचमी तिथि है. इस दिन देवी स्कंदमाता की पूजा होती है. इससे पहले देवी के नौ रूपों के बारे में जान लेते हैं. 

देवी दुर्गा के नौ रूप कौन कौन से है

प्रथम् शैल-पुत्री च, द्वितीयं ब्रह्मचारिणि
तृतीयं चंद्रघंटेति च चतुर्थ कूषमाण्डा
पंचम् स्कन्दमातेती, षष्टं कात्यानी च
सप्तं कालरात्रेति, अष्टं महागौरी च
नवमं सिद्धिदात्रि

स्कंदमाता ( माँ के आशीर्वाद का रूप )

देवी दुर्गा का पांचवा रूप है " स्कंद माता " जो हिमालय की पुत्री हैं और जिन्होंने भगवान शिव से विवाह किया है. उनका एक पुत्र है जिसका नाम है "स्कन्द". स्कन्द देवताओं की सेना के प्रमुख हैं. स्कंदमाता अग्नि की देवी है. स्कन्द उनकी गोद में बैठे रहते है. स्कंदमाता त्रिनेत्रधारै हैं. वह चतुर्भुजा हैं. वह श्वेतवर्णी हैं.  वह कमल पर बैठती हैं और अपने दोनों हाथों में कमल का पुष्प धारण करती हैं.

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# navratri 2020 # public lokpal # plnews