दुनिया के निकृष्ट शहरो की सूची में भारत के सात शहरों के नाम

Reported by lokpal report

14 Mar 2019

32

 


नई दिल्ली: ग्लोबल कंसल्टिंग फर्म मर्सर द्वारा जारी एक सूची में, भारत के सात शहरों को रहने योग्य गुणवत्ता में निकृष्ट माना गया है। यह व्यापक सर्वेक्षण आवास, अपराध, राजनीतिक स्थिरता, अवकाश, वायु प्रदूषण, बुनियादी ढांचे, स्वास्थ्य प्रणाली, शिक्षा और अर्थव्यवस्था जैसे कई कारकों पर किया जाता है।

लिविंग सर्वे 2019 की मर्सर क्वालिटी में सबसे उल्लेखनीय समावेश व्यक्तिगत सुरक्षा पर आधारित रैंकिंग है, जो "शहरों की आंतरिक स्थिरता का विश्लेषण करती है"। मर्सर क्वालिटी के इस विश्लेषण में शहर में अपराध का स्तर; कानून स्थापित करने वाली संस्था; व्यक्तिगत स्वतंत्रता पर सीमाएं; अन्य देशों के साथ संबंध और प्रेस की स्वतंत्रता जांची जाती है”।

इस साल दुनिया के 231 देशों की सूची में भारतीय शहरों की रैंकिंग में नई दिल्ली (162), कोलकाता (160), मुंबई (154), चेन्नई (151), बेंगलुरु (149), पुणे (143) और हैदराबाद (143) को सूचीबद्ध किया गया है।

सर्वेक्षण में दक्षिणी एशिया के तमाम शहर और नई दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु को शामिल किया गया, जो कि जीवन की समग्र गुणवत्ता के लिए पिछले साल की रैंकिंग से अपरिवर्तित रहे। हालाँकि, 105 वें स्थान पर काबिज चेन्नई को दक्षिण एशियाई क्षेत्र में सबसे सुरक्षित शहर के रूप में देखा गया था।

दक्षिण एशिया क्षेत्र में सबसे कम सुरक्षित शहर पाकिस्तान का कराची है जिसे 226 वें स्थान पर रखा गया है। वैश्विक रूप से, इराक की राजधानी बगदाद आर्थिक, सुरक्षा और सामाजिक संकट के कारण सूची में सबसे नीचे है।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# mercer quality of living 2019 # public lokpal # plnews