नक्सल हमले के दो दिन बाद भारी संख्या में वोट देने निकल रहे हैं दंतेवाड़ा के मतदाता

Reported by lokpal report

11 Apr 2019

38

 

 

दंतेवाड़ा: इस क्षेत्र में माओवादियों द्वारा भाजपा नेताओं के एक काफिले को उड़ाने के दो दिन बाद ही दंतेवाड़ा के ग्रामीण भारी संख्या में लोकसभा चुनाव में मतदान कर रहे हैं। बस्तर लोकसभा में आने वाला दंतेवाड़ा एक माओवादी बहुल क्षेत्र है।

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में गुरुवार को समाचार एजेंसी के हवाले से बताया गया कि दंतेवाड़ा में ग्रामीण अपना वोट डालने के लिए भारी संख्या में निकल रहे हैं। मतदान शुरू होने से पहले, बस्तर निर्वाचन क्षेत्र में नारायणपुर जिले में नक्सलियों ने सुबह-सुबह एक और आईईडी विस्फोट किया। घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

नौ अप्रैल को, भाजपा विधायक भीमा मांडवी और तीन पुलिस कर्मियों सहित चार लोग माओवादी हमले में तब मारे गए जब वे चुनाव प्रचार के दौरान सड़क पर बिछी आईईडी के चपेट में आ गए थे। छत्तीसगढ़ के बस्तर लोकसभा क्षेत्र में गुरुवार को मतदान के पहले कुछ घंटों में लगभग 14 प्रतिशत मतदाता वोट डालने निकले।

राज्य की राजधानी रायपुर के एक चुनाव अधिकारी ने समाचार एजेंसी को बताया कि कुछ जगहों पर ईवीएम में खराबी की खबरें आई थीं, जिन्हें सुधारा जा रहा है।

उन्होंने कहा, "बस्तर सीट पर मतदान सुबह 7 बजे शुरू हुआ और सुचारू रूप से जारी है। सुबह 9।30 बजे तक लगभग 14 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है।" क्षेत्र के कई मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी कतार देखी गई।

लोकसभा चुनावों से पहले, 80,000 राज्य और अर्धसैनिक बल के जवानों को शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित करने के लिए बस्तर निर्वाचन क्षेत्र में तैनात किया गया है।

बस्तर लोकसभा क्षेत्र के चार विधानसभा क्षेत्रों- दंतेवाड़ा, कोंटा, बीजापुर और नारायणपुर में मतदान गुरुवार को सुबह 7 बजे और दोपहर 3 बजे से हो रहा है।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# dantewada # general elections 2019 # dantewada naxal attack # bhima mandavi # public lokpal # plnews