चंदा कोचर की सफाई, 'नहीं थी पति और वीडियोकॉन के बीच हुए सौदे की जानकारी'

Reported by lokpal report

13 Mar 2019

37

 

 
मुंबई: आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर ने प्रवर्तन निदेशालय के जांचकर्ताओं को बताया कि वह वीडियोकॉन समूह के एमडी वेणुगोपाल धूत के साथ अपने पति दीपक कोचर के बीच हुए व्यापारिक सौदे के बारे में नहीं जानती थीं। उन्होंने जांचकर्ताओं को बताया कि जब बैंक ने वीडियोकॉन समूह को छह ऊँची कीमतों का ऋण पास किया तब वह दीपक कोचर व वेणुगोपाल धूत के बीच हुए सौदे से अनभिज्ञ थीं।

सूत्रों के अनुसार, बैंक द्वारा वीडियोकॉन समूह की एक कंपनी को 300 करोड़ रुपये का ऋण देने के एक दिन बाद वीडियोकॉन समूह द्वारा दीपक कोचर की कंपनी न्यूपॉवर रिन्यूएबल्स को 64 करोड़ रुपये के ऋण के बारे में पूछे जाने  कोचर ने कहा कि उन्होंने ऐसा नहीं किया। उन्होंने कहा कि अपने बैंक संबंधी कार्यों की चर्चा अपने पति या किसी अन्य नहीं करती थी, ऐसे में बैंक ऋण के बदले किसी से कोई एहसान लेने का सवाल ही नहीं था। सीबीआई ने आरोप लगाया है कि यह 64 करोड़ रुपये का कर्ज कोचर के लिए था।

जांचकर्ताओं ने यह भी पाया कि धूत ने दीपक की कंपनी को मॉरिशस के जरिये भुगतान किया गया था। भुगतान के बारे में विवरण मांगने के लिए एक न्यायिक अनुरोध (जिसे लेटर रोजेटरी कहा जाता है) को मॉरिशस भेजा गया है।

इसके अलावा एक स्रोत के अनुसार, आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चंदा कोचर ने जांचकर्ताओं को बताया कि उन्होंने जून 2009 और अक्टूबर 2011 के बीच वीडियोकॉन कंपनियों को दिए गए 1,875 करोड़ रुपये के छह उच्च मूल्य के ऋण "योग्यता के आधार पर दिए गए और बैंक की मंजूरी समिति से व्यक्तिगत अनुरोध की कि वे इसकी ठीक से जांच करें"।

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में मुंबई में ईडी के अधिकारियों ने चंदा कोचर, दीपक कोचर और धूत से चार दिनों तक पूछताछ की थी। सीबीआई और ईडी उन दस्तावेजों या ईमेल की जाँच कर रहे हैं, जो उसकी ओर से "आपराधिक इरादे" को साबित कर सकते हैं। सूत्रों का दावा है कि कोचर के धूत हुई डील साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं और यह पता लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं कि आईसीआईसीआई ऋण और धूत द्वारा दीपक को किए गए धन स्थानांतरण "एक दूसरे से जुड़े हुए" हैं या नहीं। उधर एक अन्य स्रोत के अनुसार दीपक कोचर ने यह दावा किया है कि उन्होंने अपनी पत्नी चंदा कोचर से धूत से हुई डील के बारे में कोई जिक्र नहीं किया था। दीपक ने अपनी कंपनी के लिए धूत की फर्म से धन हस्तांतरण और आईसीआईसीआई से धूत को लोन मिलने के समय को महज संयोग बताया है।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# chanda kochhar # videocon scam # icici scam # deepak kochhar # venugopal dhoot # nupower # public lokpal # plnews