दूध पीते हों तो सावधान, हो सकती है यह भयंकर बीमारी  

Reported by lokpal report

11 Oct 2018

114

 

नई दिल्ली : इस त्यौहार के मौसम में बाजार से या पैक्ड मिठाइयां लाने की योजना बना रहे हैं तो यह खबर आपको चौंका सकती है. हर तीन भारतीयों में से दो भारतीय डिटर्जेंट, कास्टिक सोडा, यूरिया और पेंट से मिलावट किये हुए दूध का सेवन करते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि 2025 तक 87 फ़ीसदी भारतीय मिलावटी दूध की वजह से कैंसर जैसी भयंकर बीमारी का शिकार हो सकते हैं. इस एडवाइजरी में कहा गया है कि भारत के बाजारों में बिक रहे दूध में मिलावट है. इस दूध को पीने से कैंसर का खतरा है. अगर इस मिलावट पर नियंत्रण नहीं किया गया तो भारत की एक बड़ी आबादी कैंसर की चपेट में आ जाएगी.  
गौरतलब है कि हाल ही में, पशु कल्याण बोर्ड की एक रिपोर्ट से पता चला है कि देश में कुल दूध उत्पादन के 68.7 प्रतिशत दूध मिलावटी है. 

कैसे होती है दूध में मिलावट?
हालाँकि दूध में पानी की मिलावट सबसे आम बात है लेकिन जब दूध की मांग तेजी से बढ़ जाती है तो दूध में डिटर्जेंट, कास्टिक सोडा, ग्लूकोज, सफेद रंग और रिफाइंड तेल का इस्तेमाल किया जाता है. दूध में पानी की मिलावट से दूध पतला हो जाता है जबकि अन्य मिलावट से यह गाढ़ा दिखाई देता है. मिलावटी दूध इतने प्राकृतिक दिखाई देते हैं कि उनकी शुद्धता जांचने में दिक्कत होती है.

मिलावटी दूध के खतरे: 
मिलावटी दूध शरीर के विभिन्न अंगों पर बुरा असर करता है जैसे ह्रदय की बीमारी, कैंसर, और कई मामलों में तो मृत्यु तक हो जाती है. 

क्या करें?
यह पता लगाना आसान है कि दूध में मिलावट की गई है या नहीं. कुछ त्वरित और आसान परीक्षणों से इसका पता लगाया जा सकता है. बाजार में मिलावट जानने का किट मौजूद है. हालांकि यह थोड़ा महंगा है. 

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# adulterated milk # who # public lokpal # plnews