राम रहीम की पेरोल याचिका पर हरियाणा के जेल मंत्री की सफाई

Reported by lokpal report

25 Jun 2019

107

 


अंबाला: बलात्कार के दोषी और डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह ने जेल में 'अच्छे व्यवहार' का हवाला देते हुए पैरोल की अपील की। हरियाणा के जेल मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने इस बात का समर्थन करते हुए मंगलवार को कहा कि हर दोषी को एक साल बाद पैरोल देने मिलने अधिकार है। पंवार ने कहा है कि "हर दोषी को एक साल जेल में रखने के बाद पैरोल देने का अधिकार है ....उसने (राम रहीम) ने पेरोल की एक याचिका की है, जिसे हमने सिरसा जिला प्रशासन को भेज दिया है ... हम रिपोर्ट के आधार पर भविष्य में कार्रवाई करेंगे"।

पंवार ने कल कहा था कि स्वयंभू धर्मगुरु की पैरोल के बारे में क्षेत्र के पुलिस प्रमुख द्वारा अदालत में एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जेल प्रशासन ने पहले ही राज्य पुलिस आयुक्त को पैरोल पर एक रिपोर्ट सौंप दी है।

राम रहीम दो महिला अनुयायियों के साथ बलात्कार के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है और रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है। उस पर एक पत्रकार की हत्या का भी आरोप है।

पंवार ने हालांकि, राम रहीम के पैरोल को राजनीति या चुनावों से नहीं जोड़ने की अपील की। उन्होंने कहा कि "कृपया इसे चुनाव से न जोड़ें ।।। अगर हमारा कोई इरादा होता, तो हम हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव से पहले राम रहीम को रिहा कर देते।"

राम रहीम के खिलाफ पहला मामला 2002 में सामने आया था जब उनके एक अनुयायी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को चिट्ठी लिखकर दावा किया गया था कि राम रहीम ने उनके सहित कई महिलाओं का यौन शोषण किया है।

राम रहीम को इसी वर्ष 17 जनवरी को अक्टूबर 2002 में हुई पत्रकार रामचंदर छत्रपति की हत्या में एक विशेष अदालत ने दोषी ठहराया था। इससे पहले दो महिला अनुयायियों के साथ बलात्कार के आरोप में गुरमीत राम रहीम को अगस्त 2017 में 20 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# gurmeet ram rahim # krishna lal panwar # public lokpal # plnews