बेरोजगारी पर जिन आंकड़ों को झुठलाती रही मोदी सरकार, शपथ लेते ही की उन्ही आंकड़ों की पुष्टि 

Reported by lokpal report

31 May 2019

36

 

नई दिल्ली : चुनाव पूर्व लीक रिपोर्ट में अनुमानित बेरोजगारी दर की पुष्टि करते हुए, सरकार ने शुक्रवार को कहा कि 2017-18 के दौरान देश में बेरोजगारी कुल श्रम शक्ति का 6.1 प्रतिशत थी, जो की 45 वर्षों में सबसे अधिक थी।

मोदी 2.0 कैबिनेट द्वारा पदभार ग्रहण करने के एक दिन बाद सरकार द्वारा जारी किए गए आंकड़ों में रोजगार योग्य शहरी युवाओं के 7.8 प्रतिशत को रोजगारहीन दिखाया गया, जबकि ग्रामीण के लिए प्रतिशत 5.3 प्रतिशत था। अखिल भारतीय आधार पर पुरुष में बेरोजगारी 6.2 प्रतिशत थी, जबकि महिलाओं के मामले में यह 5.7 प्रतिशत थी।

कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि आर्थिक विकास और बेरोजगारी में गिरावट देश के सामने दो महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं और उम्मीद जताई कि नई सरकार इन मुद्दों को हल करेगी। "आर्थिक विकास में मंदी" और तेजी से बढ़ रही 'बेरोजगारी' देश के सामने दो महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं। आशा है कि पीएम और वित्त मंत्री लघु-मध्यम-दीर्घकालिक योजना के जरिये इससे निपटेंगे। उन्होंने सीएसओ की रिपोर्ट पर कहा कि वित्तीय वर्ष 2018-19 की आर्थिक वृद्धि दर पांच साल के न्यूनतम स्तर 5.8 प्रतिशत पर है।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# unemployment rate 2017-18 # unemployment # cso # public lokpal # plnews