जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष बने भारत के पहले लोकपाल

Reported by lokpal report

19 Mar 2019

94

 


नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश पिनाकी चंद्र घोष को मंगलवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा भारत का पहला लोकपाल नियुक्त किया गया। भ्रष्टाचार विरोधी निगरानी दल में न्यायमूर्ति दिलीप बी भोसले, न्यायमूर्ति पी के मोहंती, न्यायमूर्ति अभिलाषा कुमारी और न्यायमूर्ति एके त्रिपाठी को न्यायिक सदस्य नियुक्त किया गया है।

भारत के राष्ट्रपति ने दिनेश कुमार जैन, अर्चना रामासुंदरम, महेन्द्र सिंह और आईपी गौतम को इस दल का सदस्य नियुक्त किया है। लोकपाल एक तीन सदस्यीय, भ्रष्टाचार विरोधी निगरानी दल है जिसमें एक अध्यक्ष, एक न्यायिक और गैर-न्यायिक सदस्य होते हैं। लोकपाल के सदस्यों में उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश और सिविल सेवक सहित आठ सदस्य शामिल होंगे।

रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन व न्यायविद मुकुल रोहतगी की एक चयन समिति की बैठक में पीसी घोष का नाम फाइनल किया गया था।

लोकसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस सदस्य, मल्लिकार्जुन खड़गे, जो समिति का हिस्सा हैं, बैठक में शामिल नहीं हुए थे।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# lokpal # pinaki chandra ghose # public lokpal # plnews