14 मार्च को होगा समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट का फ़ैसला, पंचकुला एनआईए कोर्ट ने सुरक्षित रखा आदेश

Reported by lokpal report

11 Mar 2019

113

 

  
पंचकुला: पंचकुला की विशेष की एनआईए अदालत ने 2007 के समझौता एक्सप्रेस विस्फोट मामले में 14 मार्च के लिए अपना आदेश सुरक्षित रख लिया है। समझौता एक्सप्रेस विस्फोट मामले में फैसला आने की उम्मीद में एनआईए अदालत के चारों ओर सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी।

प्रमुख अभियुक्तों में से एक, स्वामी असीमानंद सोमवार को सुनवाई में उपस्थित थे। उन्हें पहले मामले में जमानत दी गई थी। इस विस्फोट में मारे गए 68 लोगों में 43 पाकिस्तानी निवासी थे। IED धमाकों में समझौता एक्सप्रेस, भारत और पाकिस्तान को जोड़ने वाली ट्रेन के दो डिब्बे अलग-अलग हो गए।

यह विस्फोट पानीपत के पास दिवानी गांव के पास तब हुआ जब ट्रेन पाकिस्तान के अटारी सीमा की ओर जा रही थी।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने एक आरोप पत्र में कहा कि विस्फोट में पाकिस्तानी मुसलमानों को निशाना बनाया गया था। एक प्रमुख आरोपी और एनआईए की चार्जशीट में नामित पांच लोगों में से एक स्वामी असीमानंद या नाबा कुमार सरकार को सितंबर 2015 में जमानत पर रिहा किया गया था।

स्वामी असीमानंद को दो अन्य मामलों में, मक्का मस्जिद विस्फोट मामले और अजमेर दरगाह विस्फोट मामले में भी बरी किया जा चुका है। 

समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट मामले के अन्य आरोपी लोकेश शर्मा, संदीप डांगे, रामजी (या रामचंद्र कलसांगरा) और सुनील जोशी थे, जिनमे सुनील जोशी की हत्या कर दी गई थी।

स्वामी असीमानंद को दो अन्य मामलों में, मक्का मस्जिद विस्फोट मामले और अजमेर दरगाह विस्फोट मामले में भी बरी कर दिया गया था।

(पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर । LIKE कीजिये PUBLICLOKPAL का फेसबुक पेज)

निम्नलिखित टैग संबंधित खबरें पढ़े :

# samjhauta blast # nia court # swami aseemanand # public lokpal # plnews